Author Topic: बिजली क्षेत्र में नई तकनीक लाएगी इनोवरी  (Read 258 times)

SHANDAL

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 35541
  • Gender: Male
  • English
    • View Profile
बिजली क्षेत्र में नई तकनीक लाएगी इनोवरी

भारत जैसे विकासशील देश की आर्थिक स्थिरता में पावरग्रिड की क्या भूमिका है?

किसी भी विकासशील देश की अर्थव्यवस्था व सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के लिए सस्ती, उम्दा व स्थिर बिजली की उपलब्धता से बड़ी चीज कुछ भी नहीं है। विद्युतीकरण से किसी भी देश की प्राथमिक जरूरतों की पूर्ति होती है वहीं आर्थिक उत्पादन व उत्पादकता बढ़ाने में भी इससे मदद मिलती है।

इनोवरी भारत को बिजली से जुड़ी अपनी बुनियादी सुविधाओं को मजबूत करने में कैसे मदद करेगी?

इनोवरी एक बड़ा ही नया किस्म का ऊर्जा प्लेटफार्म मुहैया कराती है, जो तात्कालिक रूप से भारत की ऊर्जा चुनौतियों का समाधान कर सकती है, जो भारत के लंबे समय के लिए तय बिजली लक्ष्य को हासिल करने में मदद करेगी। इनोवरी बिजली कंपनियों को व्यावसायिक व औद्योगिक ग्राहकों के साथ पार्टनरशिप में मदद करती है।

इनोवरी तकनीक क्या है और यह कैसे काम करती है?

इनोवरी का इंटरएक्टिव एनर्जी प्लेटफार्म (आईईपी) बिजली क्षेत्र की कंपनियों को ग्रिड में बिजली की मांग व आपूर्ति के संतुलन में मदद करती है। यह बिजली की मांग का पता करने व उसका प्रबंधन करने जिसमें नवीकरणीय ऊर्जा, वितरण व एनर्जी का स्टोर शामिल हैं। ग्रिड ऑपरेशन की निगरानी व नियंत्रण में भी इससे मदद मिलती है। रीयल टाइम में ग्राहकों के साथ संवाद करना भी इसमें शामिल है। इनोवरी के इस अनोखे अंदाज से बिजली कंपनियों को अपने ग्राहकों को सस्ती और तेज सेवा देने में सहायता मिलती है और इनोवरी की तकनीक को अपनाने में उन्हें कोई अतिरिक्त लागत का वहन नहीं करना पड़ता है। वास्तव में इनोवरी के आईईपी की मदद से भारत 100 मेगावाट की बिजली से 2,50,000 नए घरों का विद्युतीकरण कर सकता है।

यह भारत की अर्थव्यवस्था पर कितना असरदार रहेगा?

इनोवरी का आईईपी पहले से ही भारत को अपने बिजली क्षेत्र की बुनियादी सुविधाओं की बढ़ोतरी में मदद कर रही है। इससे बिजली के घरेलू उपभोक्ताओं को बिना अतिरिक्त लागत के विश्वसनीय, क्षमतावान व सस्ती बिजली देने में मदद मिल रही है। इनोवरी ब्लैकआउट को खत्म करने में मदद के साथ बिजली की उत्पादकता व सुरक्षा बढ़ाने में भी सहायता कर रही है। अर्थव्यवस्था और समाज के विकास के लिए विश्वसनीय बिजली काफी महत्वपूर्ण है।

क्या भारत में इनोवरी की कोई परियोजना लाने की योजना हैै? इनोवरी भारतीय बिजली कंपनियों व उनके ग्राहकों के लिए क्या कर रही है?

पिछले पांच सालों से इनोवरी बिजली की ग्रिड प्रणाली, ग्रिड संसाधन का सुरक्षित रूप से एकीकृत विकास के साथ स्वच्छ नवीकरणीय ऊर्जा को विकसित करने में इनोवरी अपने प्लेटफार्म का इस्तेमाल कर रही है। इस साल के आरंभ में अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे के दौरान इनोवरी ने भारत की तीन कंपनियों के साथ अनुबंध किया है, जिसके तहत देश के पावरग्रिड की पूरी क्षमता का इस्तेमाल किया जाएगा, ताकि देश में सभी को विश्वसनीय बिजली की आपूर्ति की जा सके। इनमें से एक परियोजना रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ जुड़ी है, जिसके तहत मुंबई में पायलट प्रोजेक्ट किया जाना है।

इनोवरी के प्लेटफार्म से व्यावसायिक व औद्योगिक कारोबार को कैसे फायदा होगा?

जब इस प्रकार के ग्राहक इनोवरी के आईईपी के माध्यम से बिजली कंपनियों के साथ सीधे तौर पर भागीदारी करेंगे, तो पीक ऑवर के दौरान होने वाली बिजली खपत को कर्व करके उनके बिल में बचत होगी और उनकी बिजली बचत क्षमता में बढ़ोतरी होगी।

अमेरिका की बहुराष्ट्रीय कंपनी इनोवरी इंक जल्द ही भारत के बिजली क्षेत्र में कदम रखने जा रही है। अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा के भारत दौरे के दौरान कंपनी ने कई परियोजनाओं के लिए अनुबंध भी किया है। कंपनी अपनी तकनीक के माध्यम से भारत की बिजली कंपनियों के साथ भारत के कारोबारियों को फायदा पहुंचाने की योजना तैयार कर चुकी है। इन सभी मामलों में अमर उजाला के साथ विस्तृत बातचीत की इनोवरी टेक्नोलॉजी की प्रेसीडेंट प्रीता नायर ने, पेश है उसके अंश :

साक्षात्कार

प्रीता नायर

प्रेसीडेंट, इनोवरी टेक्नोलॉजी

 

GoogleTagged