Author Topic: बोर्ड एग्जाम/सेल्फ सेंटर नहीं बनेंगे स्कू  (Read 222 times)

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17222
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

पीएसईबी के 10वीं-12वीं एग्जाम में सेल्फ सेंटर नहीं बनेंगे स्कूल

अन्य स्कूलों में पेपर देने जाएंगे बच्चे, अपने स्कूल में गड़बड़ी की रहती थी गुंजाइश इसलिए पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड ने लिया निर्णय

प्रदीप शर्मा| बठिंडा
दसवीं-बारहवींबोर्ड एग्जाम के लिए बच्चों को अपना स्कूल छोड़कर अन्य स्कूलों में पेपर देने जाना होगा, बोर्ड एग्जाम में कोई भी स्कूल सेल्फ सेंटर नहीं बन सकेगा। बोर्ड एग्जाम के पारदर्शी और सटीक रिजल्ट देने को पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड ने एग्जामिनेशन का नया खाका तैयार किया है। हालांकि सीबीएसई एवं हरियाणा शिक्षा बोर्ड परीक्षाओं के दौरान जहां बच्चा पढ़ रहा हो, वहां एग्जामिनेशन सेंटर नहीं बनाया जाता। शिक्षा विभाग की ओर से तैयार किए जा रहे एग्जामिनेशन प्रारूप के तहत हर जिले में बनने वाले सरकारी प्राइवेट स्कूलों के एग्जामिनेशन सेंटरों की सूची तैयार करवाई जा रही है। इसके आधार पर स्कूलों में परीक्षा केंद्रों की अदला-बदली की जाएगी ताकि बच्चा अपने स्कूल की बजाय अन्य स्कूल में जाकर परीक्षा दे, बाकायदा बच्चों के एडमिट कार्ड यानी रोल नंबर स्लिप पर उसके एग्जामिनेशन सेंटर का नाम दर्ज होगा। पीएसईबी के इस कदम से स्कूलों की ओर से परीक्षा के दौरान की जाने वाली थोड़ी-बहुत गुंजाइश भी खत्म होगी और सही मायनों में प्राइवेट स्कूलों के रिजल्ट का पता चल सकेगा।
एग्जाम में पहले से लगती है बाहरी स्टाफ की ड्यूटी
बोर्डएग्जाम में भले ही स्कूल सेल्फ सेंटर बनते हैं लेकिन शिक्षा विभाग की हिदायतों पर परीक्षा में बाहरी स्टाफ की ही ड्यूटी लगाई जाती है। स्कूल में परीक्षा देने वाले बच्चों की संख्या के अनुपात में इनविजिलेटर, डिप्टी सुपरिटेंडेंट और सुपरिटेंडेंट के अलावा कई बार तो ऑब्जर्वर भी लगाए जाते हैं जोकि अन्य स्कूलों के होते हैं। अपना रिजल्ट बेहतर दिखाने के जुनूनी स्कूल प्रबंधकों की ओर से हर हथकंडा अपनाया जाता है, इस श्रेणी में प्राइवेट, गवर्नमेंट एडेड के साथ-साथ सरकारी स्कूल भी शामिल हैं। परीक्षा केंद्र बनने पर स्कूल प्रबंधक के लिए एग्जाम ड्यूटी देने वाले स्टाफ को अपने प्रभाव में लेना आसान रहता है और इसका भरपूर फायदा उठाकर अपने विद्यार्थियों के लिए सहायक सिद्ध होते हैं। इसलिए अब पीएसईबी को इस समस्या से निपटना आसान होगा।
न्यूनतम 150 बच्चों पर बनता है परीक्षा केंद्र
शिक्षाविभाग के नियमानुसार बोर्ड बोर्ड परीक्षा के लिए कम से कम 150 बच्चों पर एक परीक्षा केंद्र बनाया जाता है जिसमें 50 बच्चे सेंटर बनने वाले स्कूल के होना अनिवार्य है। वहीं सेंटर बनने वाले स्कूल में उपयुक्त फर्नीचर के साथ कम से कम 5 कमरे अनिवार्य हैं जहां 1:30 के अनुपात में सिटिंग प्लान तैयार होता है। इसके अलावा बिजली, पानी और शौचालय के भी पर्याप्त प्रबंध जरूरी है। हालांकि अपने स्कूल में एग्जाम सेंटर बनाने की एवज में बोर्ड की ओर से किसी प्रकार का सेवा फल देने का प्रावधान नहीं है बल्कि सेंटर बनाने के लिए बोर्ड को 20 हजार रुपए की एकमुश्त सालाना फीस चुकानी पड़ती है। हालांकि ओपन स्कूल का एग्जाम सेंटर बनने वाले स्कूल को 250 रुपए प्रति विद्यार्थी के हिसाब से सेवा फल मिलता है और वो भी अनेक प्रकार की औपचारिकताओं के बाद ओपन स्कूल वाले सेंटर की ओर से अदायगी होती है।
बोर्ड की हिदायतों पर ही बनाए जाएंगे सेंटर
^शिक्षाविभाग के निर्देशानुसार ही बोर्ड एग्जाम सेंटरों की अदला-बदली होगी हालांकि अभी फाइनल एग्जाम में बहुत वक्त पड़ा है, तब तक सारी तैयारियां मुकम्मल हो जाएंगी। जिले में 117 एग्जाम सेंटर हैं जहां बाहरी स्टाफ होने की वजह से बोर्ड एग्जाम में गड़बड़ी की संभावना कम ही रहती है। -भूपिंदर कौर, डिप्टी डीईओ बठिंडा
« Last Edit: September 04, 2017, 07:14:11 AM by sheemar »

 

CBSE:27 तक रि-वेरिफिकेशन/विंडो फिर खोली

Started by sheemar

Replies: 0
Views: 306
Last post June 23, 2017, 08:01:24 AM
by sheemar
मिलेगा 5 साल से अटका DA का बकाया

Started by sheemar

Replies: 0
Views: 867
Last post December 18, 2016, 09:45:10 AM
by sheemar
J&K 25 निजी बीएड कॉलेज बंद

Started by sheemar

Replies: 0
Views: 240
Last post July 31, 2017, 05:03:36 PM
by sheemar
नौकरी घोटाला: अकाली नेता से मिल 32 को दिलाई नौè

Started by sheemar

Replies: 2
Views: 453
Last post July 17, 2016, 02:02:25 PM
by sheemar
सैलरी रुकी, 7 तक मिलने के आसार

Started by sheemar

Replies: 4
Views: 954
Last post September 13, 2017, 06:24:08 AM
by sheemar