Author Topic: बंद होंगे 800 इंजिनियरिंग कॉलेज  (Read 532 times)

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17035
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

30% से कम दाखिले तो बंद होंगे इंजीनियरिंग काॅलेज
नई दिल्ली | एआईसीटीईने ऐसे इंजीनियरिंग कॉलेज बंद करने का फैसला किया है जिनमें 5 वर्षाें में 30% से कम दाखिले हुए हैं। देश के विभिन्न इंजीनियरिंग कॉलेजों की 27 लाख सीटें खाली पड़ी हैं। एआईसीटीई के चेयरमैन अनिल डी सहस्त्रबुद्धे के मुताबिक अगले वर्ष से ऐसे कॉलेज बंद होंगे।
« Last Edit: August 12, 2017, 06:41:27 AM by sheemar »

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17035
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
बंद होंगे 800 इंजिनियरिंग कॉलेज
« Reply #1 on: September 02, 2017, 05:11:41 PM »
बंद होंगे देशभर के 800 इंजिनियरिंग कॉलेज
ऐडमिशन के टोटे के चलते बंद होंगे 800 इंजिनियरिंग कॉलेज

टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: Sep 2, 2017

अदिति ज्ञानेश, बेंगलुरु
हर साल कम होते ऐडमिशन्स के आंकड़ों और खाली सीटों के चलते ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) भारत भर में 800 इंजिनियरिंग कॉलेजों को बंद करना चाहता है। इन कॉलेज की सीटों के लिए कोई दावेदार नहीं हैं और इन कॉलेजों में पढ़ाई की गुणवत्ता भी ठीक नहीं है। यह जानकारी एआईसीटीई के अध्यक्ष अनिल दत्तात्रेय सहस्रबुद्धि ने दी।

सख्त एआईसीटीई नियमों की वजह से हर साल लगभग 150 कॉलेज बंद हो जाते हैं। काउंसिल के एक नियम के मुताबिक, जिन कॉलेजों में उचित आधारभूत संरचना की कमी है और पांच साल से जहां 30 प्रतिशत से कम सीटों पर ही प्रवेश हुए हैं, उन्हें बंद करना होगा।

वेबसाइट के अनुसार, एआईसीटीई ने 2014-15 से 2017-18 तक पूरे भारत में 410 से अधिक कॉलेजों को बंद करने को मंजूरी दी है। इनमें से 20 संस्थान कर्नाटक में हैं। 2016-17 में सबसे ज्यादा संख्या में संस्थाओं को बंद करने की मंजूरी दी गई थी। तेलंगाना, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, हरियाणा, गुजरात और मध्य प्रदेश में सबसे ज्यादा कॉलेज ऐसे हैं, जो एआईसीटीई के मानकों के हिसाब से बंद होने हैं।

ऐसे कॉलेजों का प्रोगेसिव क्लोजर होगा। प्रोगेसिव क्लोजर होने का मतलब है कि संस्थान इस शैक्षणिक वर्ष में प्रथम वर्ष में छात्रों को प्रवेश नहीं दे सकता है, हालांकि पहले से पढ़ रहे छात्रों की पढ़ाई जारी रहेगी। यह छात्र पाठ्यक्रम पूरा कर सकेंगे। एआईसीटीई ने इंजिनियरिंग कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को भी अपने पाठ्यक्रम को संशोधित और नवीनीकृत करने की सलाह दी है, जो प्रवेश की संख्या में गिरावट और उनकी शिक्षा की गुणवत्ता में गिरावट का प्रमुख कारण है।

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17035
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

दाखिले में कमी से बंद होंगे 800 इंजीनियरिंग कॉलेज
बेंगलुरु | घटतेदाखिले खाली सीटों के चलते एआईसीटीई देश भर में 800 इंजीनियरिंग कॉलेज बंद करेगा। एआईसीटीई के अध्यक्ष अनिल दत्तात्रेय सहस्रबुद्धे के मुताबिक इन कॉलेजों की सीटों के लिए कोई दावेदार नहीं है और इनमें पढ़ाई की गुणवत्ता भी ठीक नहीं है।

PRITAM DASS SHARMA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 30592
  • Gender: Male
  • AT YOUR SERVICE
    • MSN Messenger - PD1915@HOTMAIL.COM
    • View Profile
    • WWW.DAVDERABASSI.COM
    • Email

PRITAM DASS SHARMA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 30592
  • Gender: Male
  • AT YOUR SERVICE
    • MSN Messenger - PD1915@HOTMAIL.COM
    • View Profile
    • WWW.DAVDERABASSI.COM
    • Email

 

बेस्ट स्कूल अवार्ड

Started by sheemar

Replies: 1
Views: 484
Last post July 17, 2017, 09:17:30 AM
by Baljit NABHA
सभी बोर्ड की टैक्स्टबुक एक पोर्टल पर

Started by sheemar

Replies: 0
Views: 588
Last post June 21, 2015, 09:59:06 AM
by sheemar
बीस लाख तक ग्रैच्युटी टैक्स फ्री

Started by sheemar

Replies: 3
Views: 844
Last post July 11, 2017, 06:32:18 AM
by sheemar
शाला सिद्धि Shaala Siddhi

Started by Gaurav Rathore

Replies: 8
Views: 868
Last post December 12, 2017, 07:41:02 PM
by Gaurav Rathore
अब स्टूडेंट्स की अटेंडेंसSMS से

Started by sheemar

Replies: 0
Views: 1005
Last post July 08, 2015, 11:40:47 AM
by sheemar