Author Topic: अब स्कूलों की भी रैंकिंग  (Read 675 times)

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17671
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17671
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: अब स्कूलों की भी रैंकिंग
« Reply #1 on: October 30, 2017, 08:35:38 AM »

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17671
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: अब स्कूलों की भी रैंकिंग
« Reply #2 on: October 30, 2017, 08:38:45 AM »
अब सीबीएसई करवाएगा स्कूलों की रैंकिंग
नवभारत टाइम
एनबीटी, लखनऊ

स्कूलों में शिक्षा के स्तर को और बेहतर करने के लिए सीबीएसई अपने अधीन चलने वाले स्कूलों की रैंकिंग करवाएगा। अगले सत्र से इसके लागू करने के लिए बोर्ड की ओर से खाका तैयार किया जा रहा है। इसकी शुरुआत केंद्रीय विद्यालय और नवोदय विद्यालयों की रैंकिंग से होगी। इनमें 1128 केंद्रीय विद्यालय और 589 नवोदय विद्यालय शामिल हैं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने दोनों ही विद्यालय संगठनों से इसके लिए एक गाइडलाइन तैयार करने को कहा है।



इस स्तर पर होगी रैंकिंग

स्कूलों की रैकिंग विभिन्न शैक्षणिक बिंदुओं पर होगी। स्कूलों को यह भी बताना होगा कि उनके यहां कितने प्रफेशनल कोर्स चल रहे हैं। इसके अलावा शिक्षक, छात्रों की संख्या, योग्यता, उत्तीर्ण, फेल छात्रों के प्रतिशत, छात्रों के चयन और फीस के बारे में भी जानकारी देनी होगी।


sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17671
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: अब स्कूलों की भी रैंकिंग
« Reply #4 on: October 30, 2017, 08:54:00 AM »

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17671
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

यह होगा ग्रेडिंग का आधार 1>>स्कूल का परीक्षा परिणाम व अध्यापकों की उपलब्धता1>>स्कूल में उपलब्ध सुविधाएं व बुनियादी ढांचा व हाजिरी रिपोर्ट 1>>स्कूल मैनेजमेंट कमेटी व अन्य लोगों की विकास में सहभागिता
पोर्टल पर अपलोड करनी होगी जानकारी1स्कूल प्रिंसिपलों को अपने स्कूल की जानकारी ई पंजाब स्कूल वेबपोर्टल पर अपलोड करनी होगी। इसके लिए शिक्षा विभाग ने स्कूल लॉग इन पर स्कूल ग्रेडिंग का लिंक दे दिया है। इसमें विभाग की तरफ से पांच मॉड्यूल भी तय किए गए हैं। प्रिंसिपलों को स्कूल से संबंधित डाटा विस्तार पूर्वक अपलोड करना होगा। इसके बाद स्टेट लेवल पर एक कमेटी डाटा को वेरीफाई करेगी और फिर स्कूलों की ग्रेडिंग होगी। प्रिंसिपलों को एक सप्ताह के अंदर डाटा फीड करना होगा।
योजना

राजेश भट्ट, लुधियाना1प्रदेश के सरकारी स्कूलों के दिन फिरने वाले हैं। शिक्षा विभाग सरकारी स्कूलों की दशा सुधारने के लिए ग्रेडिंग सिस्टम शुरू कर रहा है। इसके लिए विभाग ने स्कूलों से ऑनलाइन डाटा मंगवाया है। ग्रेडिंग विद्यार्थियों की संख्या, बच्चों की पढ़ाई, परीक्षा परिणाम और स्कूलों में उपलब्ध सुविधाओं के आधार पर की जाएगी। 1 पहले फेज में सरकार राज्यभर के सरकारी सीनियर सेकेंडरी व सरकारी हाई स्कूलों की ग्रेडिंग करेगा। स्कूलों के विकास में यह कामयाब रही तो इसे प्राइमरी और मिडिल स्कूलों में भी लागू किया जाएगा। शिक्षा विभाग ने प्रिंसिपलों को हिदायत दी है कि वह जल्द अपने स्कूल का डाटा जमा करवा दें ताकि डाटा मिलते ही शिक्षा विभाग स्कूलों को ग्रेडिंग जल्द करवा सके। बताया जा रहा है कि ग्रेडिंग से पहले कुछ स्कूलों की वेरीफिकेशन भी करवाई जाएगी, जो स्कूल उच्च ग्रेड में होंगे उन्हें विभाग प्रोत्साहित करेगा और अन्य स्कूलों के सामने उन्हें रोल मॉडल की तरह पेश करेगा जबकि निचले ग्रेड वाले स्कूलों की दशा सुधारने के लिए विभाग विशेष मुहिम चलाएगा।>>सुविधाओं, विद्यार्थियों की संख्या व रिजल्ट के आधार पर मिलेगा ग्रेड 1>>पहले फेज में हाई स्कूल व सीनियर सेकेंडरी स्कूलों की होगी ग्रेडिंग1सरकारी स्कूलों में सुधार के लिए ग्रेडिंग व्यवस्था को अपनाया जा रहा है। कुछ स्कूल प्रिंसिपल व टीचर बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा और साथ ही जिन स्कूलों में दिक्कतें हैं उसका आंकड़ा भी विभाग के पास आ जाएगा।1परमजीत सिंह, डायरेक्टर पब्लिक इंस्ट्रक्शन सेकेंडरी पंजाब
« Last Edit: October 30, 2017, 08:59:33 AM by sheemar »

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17671
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: अब स्कूलों की भी रैंकिंग
« Reply #6 on: October 30, 2017, 09:05:38 AM »


पहली बार केंद्रीय विद्यालयों की रैंकिंग होगी
पहल

नई दिल्ली, प्रेट्र : मानव संसाधन विकास मंत्रलय ी बार अपने एक हजार से अधिक केंद्रीय विद्यालयों की रैंकिंग करेगा। इस का मकसद केंद्रीय विद्यालयों के बीच प्रतिस्पर्धा के जरिये उनके स्तर में सुधार लाना है। मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के निर्देश पर इन विद्यालयों की रैंकिंग का फैसला लिया गया है। इसके नतीजे अगले साल जून में जारी किए जाएंगे। 1सूत्रों के मुताबिक, अगले साल से रैंकिंग के लिए साल में दो बार स्कूलों का निरीक्षण किया जाएगा। केंद्रीय विद्यालयों को चार श्रेणियों में बांटा जाएगा और अधिकतम 1,000 अंक होंगे। विद्यालयों का मूल्यांकन सात मानकों के आधार पर किया जाएगा। 1इनमें अकादमिक प्रदर्शन, स्कूल इन्फ्रास्ट्रक्चर, स्कूल प्रशासन, वित्तीय स्थिति, सामुदायिक भागीदारी, ग्रेस पॉइंट्स और निरीक्षकों द्वारा समग्र पर्यवेक्षण के आधार पर किया जाएगा। अकादमिक प्रदर्शन को सबसे ज्यादा 500 अंक दिए जाएंगे। इन्फ्रास्ट्रक्चर को 150 अंक, प्रशासन के लिए 120 अंक, वित्तीय स्थिति के लिए 70 अंक, सामुदायिक भागीदारी के लिए 60 अंक, ग्रेस पॉइंट्स के लिए 90 अंक और निरीक्षकों के पर्यवेक्षण के लिए 10 अंक मिलेंगे।1 80 फीसद और उससे ज्यादा अंक हासिल करने वाले स्कूलों को ए कैटेगरी (एक्सेलेंट), 60-79.9 फीसद वाले स्कूलों को बी कैटेगरी (बहुत अच्छा), 40-59.9 फीसद वाले स्कूलों को सी कैटेगरी (गुड) और 40 फीसद से कम वाले स्कूलों को डी कैटेगरी (औसत) में रखा जाएगा। देश में केंद्रीय विद्यालयों की यह ी आधिकारिक रैंकिंग होगी। देश में उच्च शैक्षिक संस्थानों का मूल्यांकन नेशनल असेसमेंट ऐंड एक्रिडिटेशन काउंसिल द्वारा किया जाता है।>>मानव संसाधन विकास मंत्री के निर्देश पर होगी स्कूलों की रैंकिंग1>>प्रतिस्पर्धा के जरिये स्कूलों के स्तर में सुधार लाना है मकसद

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17671
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: अब स्कूलों की भी रैंकिंग
« Reply #7 on: October 30, 2017, 09:10:50 AM »

केंद्रीय विद्यालयों की होगी रैंकिंग, नतीजे जून में
नई दिल्ली | यूनिवर्सिटीकी तर्ज पर केंद्रीय विद्यालयों की भी रैंकिंग होगी। केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय गुणवत्ता में प्रतिस्पर्द्धा को बढ़ावा देने के लिए अपने 1,000 से ज्यादा विद्यालयों की रैंकिंग करेगा। हर विद्यालय की दो बार जांच होगी। पहली रैंकिंग अगले साल जून में जारी होगी।

 

GoogleTagged