Author Topic: Hindi Poetry  (Read 9265 times)

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 15794
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: Hindi Poetry
« Reply #30 on: June 07, 2015, 11:53:01 AM »
 अर्ज़ किया है
हसीनों से फ़क़त साहब-सलामत दूर की अच्छी

न इनकी दोस्ती अच्छी, न इनकी दुश्मनी अच्छी

फ़क़त : सिर्फ़, साहब-सलामत : सलाम-दुआ

- हफ़ीज़ जौनपुरी



हर एक रूह में इक ग़म छुपा लगे है मुझे

ये ज़िन्दगी तो कोई बद्दुआ लगे है मुझे

- जांनिसार अख़्तर



हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि

हर ख्वाहिश पे दम निकले

बहुत निकले मेरे अरमां,

लेकिन फिर भी कम निकले

- ग़ालिब



हम इश्क़ के मारों का इतना ही फ़साना है

रोने को नहीं कोई, हंसने को ज़माना है

- जिगर मुरादाबादी



हमने कांटों को भी नर्मी से छुआ है, अक्सर

लोग बे-दर्द हैं, फूलों को मसल देते हैं

- बिस्मिल सईदी



हमारे दम से ही आबाद हैं गली-कूचे

छतों पे हम ही कबूतर उड़ाने आते हैं

- रईस सिद्दीक़ी



हमारे पास तो ले-दे-के है, ये दर्द की दौलत

बड़े आराम से अपनी बसर-औक़ात होती है

बसर-औक़ात : ज़िन्दगी गुज़रना

- नूरजहां सर्वत



हमारे अहद के बच्चों को क्या हुआ, आख़िर

दरख़्त काट के साये तलाश करते हैं

अहद : समय, दरख़्त : पेड़

- रफ़ीक़ सौदागर



हमारे बच्चे बड़ों का अदब नहीं करते

न जाने कौन-सा जादू नए निसाब में है

निसाब : पाठ्यक्रम

- हसीब रहबर



हमारे देश में क्या ख़ूब होता है इलेक्शन

कि जिसके हाथ हों लंबे, उसी का है सिलेक्शन

- डॉक्टर राही फ़िदाई



हमसे सारी बस्ती वाले पूछ रहे हैं, देखा चांद

घर में फ़ाक़ा हो, तो भाई कैसी खुशियां, कैसा चांद

- सुहैल निज़ाम



हर इक मक़ाम से गुज़रूंगा ज़िन्दगी के लिए

तमाम रंज गवारा तेरी ख़ुशी के लिए

- फ़िदा ख़ालिदी



हर क़दम पर नित-नए सांचे में ढल जाते हैं लोग

देखते ही देखते कितने बदल जाते हैं लोग

- हिमायत अली शायर

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 15794
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: Hindi Poetry
« Reply #31 on: June 14, 2015, 12:52:53 PM »

 

GoogleTagged



punjabi poetry (ਬਾਬੂ ਰਾਜਬ ਅਲੀ ਜੀ )

Started by GURSHARAN NATT

Replies: 259
Views: 27213
Last post October 27, 2013, 08:02:31 PM
by GURSHARAN NATT
Punjabi Poetry- Roh 'TE Muskan-- Kaka Gill

Started by R S Sidhu

Replies: 108
Views: 13067
Last post February 29, 2012, 09:20:21 PM
by R S Sidhu
Punjabi Poetry

Started by <--Jack-->

Replies: 491
Views: 90745
Last post February 15, 2017, 06:42:05 PM
by PRITAM DASS