Author Topic: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News  (Read 93747 times)

Gaurav Rathore

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 5452
  • Gender: Male
  • Australian Munda
    • View Profile
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #10 on: November 05, 2012, 07:08:56 AM »
भड़कीले कपड़े व स्पो‌र्ट्स शू पहन दफ्तर न आएं

अजय जायसवाल, लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार को सर्वाधिक राजस्व देने वाले वाणिज्य कर विभाग के अधिकारियों व कर्मचारियों को शालीन पहनावे के साथ ही शिष्ट आचरण करने के निर्देश दिए गए हैं। अब न उनके कपड़े भड़कीले व चटख रंग के होंगे और न ही स्पो‌र्ट्स शू या चप्पल वे पहने होंगे। कारण है कि विभाग के मुखिया हिमांशु कुमार को ऐसा पहनावा कार्य से ध्यान भंग करने के साथ आमजन के मन में विभाग के प्रति प्रतिकूल प्रभाव छोड़ने वाला लगता है। कमिश्नर हिमांशु कुमार का मानना है अधिकारी के पहनावे व आचार-विचार से ही कार्यालय की सभ्यता प्रतिबंबित होती है। कार्यालय में अस्त-व्यस्त दिखना व पहनावे व बालों को सामान्य ढंग से न रखने पर आम लोगों के मन में विभाग की खराब छवि बनती है।


शिक्षिका का निलंबन वापस
मलप्पुरम (केरल), प्रेट्र : केरल में शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल के प्रबंधन को उस महिला शिक्षिका का निलंबन रद करने को कहा है जिसने ड्यूटी पर रहने के दौरान हरे रंग का ओवरकोट पहनने से इन्कार कर दिया था
« Last Edit: November 05, 2012, 07:16:06 AM by G.Rathore »

Gaurav Rathore

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 5452
  • Gender: Male
  • Australian Munda
    • View Profile
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #11 on: March 11, 2013, 03:40:33 PM »
अखिलेश ने फ्री में बांटा 10 हजार लैपटॉप



युवाओं को लुभाने के लिए किये गये चुनावी वादे को पूरा करते हुए उत्तर प्रदेश की समाजवादी पार्टी (सपा) सरकार के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज छात्रों को मुफ्त लैपटॉप बांटे और इसे एक क्रांतिकारी कदम करार दिया.
मुख्यमंत्री ने यहां काल्विन तालुकेदार कॉलेज प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि विपक्षियों की तमाम विपरीत अटकलों से बेपरवाह सपा सरकार ने करीब 10 हजार छात्र-छात्राओं को लैपटाप वितरित कर उन्हें एक नयी दुनिया में कदम रखने का मौका दिया है. यह एक क्रांतिकारी कदम है.

उन्होंने कहा ‘लैपटॉप और इंटरनेट ने आज सब कुछ बदलकर रख दिया है, चाहे सरकारी कामकाज हो या फिर शिक्षा का क्षेत्र. हम चाहते हैं कि कल दुनिया यह नहीं कह पाये कि आपने इंटरनेट आधारित प्रगतिशील पढ़ाई नहीं की है. आपके अंदर हीन भावना नहीं आये, इसलिये सपा सरकार ने लैपटॉप देकर आपको बराबर पर ला खड़ा करने का प्रयास किया है.’

अपनी स्वप्निल परियोजना को मूर्तरूप देते हुए अखिलेश ने कहा ‘कोई भी समाजवादियों से यह उम्मीद नहीं करता था कि वे अंग्रेजी और कम्यूटर की बात करेंगे लेकिन सपा ने बदलाव को समझा है और लैपटॉप बांटने की पहल की है.’ उन्होंने कहा ‘पहिया बनने के बाद दुनिया बदल गयी और उसके बाद अगर किसी ने दुनिया को बदला है तो वह इंटरनेट है. इंटरनेट के जरिये ये बच्चे एक नयी दुनिया में कदम रखेंगे और उन्हें प्रगतिशील पढ़ाई का लाभ लेने का मौका मिलेगा.’

गौरतलब है कि सपा में पिछले साल विधानसभा चुनाव के लिये अपने घोषणापत्र में इंटरमीडियट पास करके अगली कक्षा में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों को लैपटॉप तथा हाईस्कूल पास करके अगले दर्जे में प्रवेश लेने वाले छात्र-छात्राओं को टैबलेट मुफ्त देने का वादा किया था.

अखिलेश ने कहा कि विपक्षी कह रहे थे कि लैपटॉप वितरण के लिये परियोजना बनेगी ही नहीं और अगर बन गयी तो लैपटॉप बटेंगे नहीं, लेकिन सपा सरकार ने अपना वादा पूरा कर दिया है. विपक्षी दलों पर हमला करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा ‘घोषणापत्र किसी भी पार्टी का सबसे महत्वपूर्ण दस्तावेज होता है.

एक पार्टी (बसपा) ने कभी घोषणापत्र नहीं बनाया. एक पार्टी (भाजपा) है जो वादा करने के बाद मुकर जाती है. सपा ने कथनी और करनी में कोई फर्क नहीं किया है. हमने एक साल में वादे पूरे करने का प्रयास किया है.’ अपने हमले जारी रखते हुए उन्होंने कहा ‘हमने कभी किसी पर आरोप नहीं लगाया. अगर दंगा हुआ तो हमने जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की. कहीं भगदड़ होती है तो हम किसी पर आरोप नहीं लगाएंगे, पहले लोगों को सुरक्षित कैसे पहुंचाएं, यह सोचेंगे. तमाम लोग हैं जो ऐसी घटना पर राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश करते हैं.’

अखिलेश ने आरोप लगाया कि पुरानी सरकारों की गलत नीतियों के कारण ही बेरोजगारी बढ़ी है. सरकार रोजगार के अवसर पैदा करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश में विकास कार्यो पर जोर दे रही है. चाहे वह कृषि का क्षेत्र हो, स्वास्थ्य का हो या फिर भ्रष्टाचार पर अंकुश का हो



[/size]
« Last Edit: March 11, 2013, 04:25:47 PM by <--Jack--> »

<--Jack-->

  • Editor-in-Chief
  • *****
  • Offline
  • Posts: 12105
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Real Info
    • Email
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #12 on: March 11, 2013, 06:15:35 PM »
Now Punjab's turn..........

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17042
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #13 on: June 30, 2013, 04:01:51 PM »
खुशखबरी: यूपी में डेढ़ लाख टी‌चिंग स्‍टाफ का बढ़ेगा वेतन
amar ujala
महेंद्र तिवारी/लखनऊ | अंतिम अपडेट 30 जून 2013
प्रदेश के उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा और चिकित्सा शिक्षा विभाग के सहायता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं के शिक्षणेतर कर्मियों को जल्दी ही सौगात मिल सकती है।

इन विभागों के शिक्षणेतर कर्मियों से जुड़ी रिजवी समिति की सिफारिशें वित्त विभाग को मिल चुकी हैं।

मंत्रिपरिषद के सामने रखने को कहा
शासन ने इसे जल्द से जल्द विचार के लिए मंत्रिपरिषद के सामने रखने को कहा है। इससे करीब डेढ़ लाख कर्मचारी लाभान्वित होंगे। रिजवी वेतन समिति 2008 के 11 वें प्रतिवेदन में सहायता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं के शिक्षणेतर कर्मियों के संबंध में पदवार विस्तृत संस्तुतियां की गई हैं।

कुछ पदों को कई ग्रेड में बांटा गया
इसमें राज्य कर्मचारियों की तरह सामान्य कैडर के विभिन्न पदों का पुनर्गठन और उसी हिसाब से ग्रेड पे बदलाव का प्रस्ताव है। कुछेक पदों को कई ग्रेड में बांटा गया है। सहायता प्राप्त शिक्षण एवं प्राविधिक शिक्षण संस्थाओं के शिक्षणेतर कर्मियों को एक जनवरी 2006 से पुनरीक्षित वेतनमान/ग्रेड पे का लाभ दिया जा चुका है।

तरक्की के अवसर भी बढ़ेंगे
इसके बाद वेतन समिति 2008 के11 वें प्रतिवेदन में सहायता प्राप्त उच्च शिक्षा, माध्यमिक शिक्षा और बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षणेतर कर्मचारियों के संबंध में जो विस्तार से संस्तुतियां दी गई हैं। उसके अनुसार अब लाभ देने की तैयारी है। इससे न सिर्फ शिक्षणेतर कर्मियों की पगार में इजाफा होगा बल्कि तरक्की के अवसर भी बढ़ेंगे।

आगामी बैठक में आ सकता है प्रस्ताव
सूत्रों के अनुसार कर्मचारी शिक्षक संयुक्त मोर्चा के पदाधिकारियों की प्रमुख सचिव कार्मिक राजीव कुमार के साथ हुई बैठक में सहायता प्राप्त शिक्षणेतर कर्मचारियों को राज्य कर्मचारियों के समान वेतनमान देने का मामला उठाया गया था। इसी बैठक में वेतन समिति की संस्तुतियों को जल्द से जल्द मंत्रिपरिषद के निर्णय के लिए प्रस्तुत करने का फैसला हुआ। जानकार बताते हैं कि मंत्रिपरिषद की आगामी बैठक में यह प्रस्ताव विचार के लिए आ सकता है।

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17042
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #14 on: July 22, 2013, 02:06:42 PM »
यूपीः जीरो नंबर वालों को भी मिलेगा बीएड में दाखिला


amar ujala 22 जुलाई 2013
एक वह भी दौर था, जब बीएड कॉलेजेस में सीटें बचती नहीं थीं। लेकिन आज हालत यह है कि, बैक टू बैक काउंसलिंग कराए जाने के बाद भी पूरी सीटें नहीं भर पा रही हैं।

अब खबर है कि, बीएड प्रपेश परीक्षा में जीरो नंबर लाने वालों को भी दाखिला दे दिया जाएगा।

बीएड प्रवेश परीक्षा में जीरो और उससे कम अंक वाले भी दाखिला पा जाएंगे। इसके लिए तीसरी काउंसलिंग की तैयारी हो रही है।

दरअसल, दो काउंसलिंग के बावजूद प्रदेश में एक तिहाई से ज्यादा सीटें खाली रह गई हैं। इन्हें भरने के लिए फिर आवेदन मांगे गए हैं। अभी तक एक अंक पाने वालों को मौका दिया जा चुका है। तीसरी काउंसलिंग में जिन्होंने भी आवेदन किया था, उन सभी को मौका मिलना तय है।

प्रदेश भर में बीएड की लगभग 1 लाख, 20 हजार सीटों पर दाखिले का जिम्मा गोरखपुर विश्वविद्यालय का था। इसके लिए 3 लाख, 87 हजार आवेदन आए थे।

पहली काउंसलिंग में टॉप रैंक वाले दाखिले के लिए बुलाए गए थे। इस काउंसलिंग के बाद भी 56 हजार सीटें खाली रह गई थीं। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार सीटें भरने के लिए फिर से पूल काउंसलिंग कराई गई।

इसमें आवेदन के समय ही यह शर्त थी कि उन्हें किसी भी कॉलेज में दाखिला दिया जा सकता है। वे जितने भी विकल्प भरेंगे उनमें से अंतिम विकल्प या उसके अलावा भी कोई कॉलेज मिल सकता है।

जीरो या उससे कम अंक (माइनस में) पाने वालों को भी तीसरी काउंसलिंग में बुलाया जाता है, तब भी सीटें नहीं भर पाएंगी। इसकी वजह यह है कि, ऐसे अभ्यर्थी भी अब 6632 ही बचे हैं और सीटें करीब 44 हजार खाली हैं।

ऊंची रैंक वाले ज्यादातर अभ्यर्थियों ने अच्छा कॉलेज न मिलने के कारण दाखिला नहीं लिया, इसलिए वे तीसरी काउंसलिंग में शामिल नहीं होंगे।
« Last Edit: July 22, 2013, 02:08:58 PM by sheemar »

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17042
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #15 on: September 19, 2013, 02:21:38 PM »
Over 30 per cent teachers' seats vacant in UP

Lucknow, Sep 19 (PTI) Over 30 per cent posts of teachers are vacant in universities and colleges in Uttar Pradesh, the State Legislative Assembly was told today.

While 518 out of 1622 posts of teachers are vacant in state universities, 820 posts are vacant in degree colleges out of total 2219, state minister Abhishek Mishra said in reply to a question by BJP member Upendra Tiwari.

Mishra added that the Uttar Pradesh government is trying to fill the vacant posts.

Gaurav Rathore

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 5452
  • Gender: Male
  • Australian Munda
    • View Profile
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #16 on: October 07, 2013, 07:25:25 PM »
10 साल बाद होगी बेसिक शिक्षा में बाबुओं की भर्ती

    बीएसए कार्यालय के साथ साथ डायट, ब्लॉक आफिस के अलावा कई निदेशालय ऐसे हैं, जहां कई सालों से भर्तियां नहीं
    अधिकतर दफ्तरों में शिक्षकों से लिया जा रहा है क्लर्क का काम



लखनऊ। बेसिक शिक्षा परिषद में करीब 10 साल बाद बाबुओं की भर्ती होगी। इसके लिए जिलेवार रिक्तियों का ब्यौरा तैयार कराया जा रहा है। इसकी जिम्मेदारी निदेशालय को दी गई है। खाली पदों का ब्यौरा मिलने के बाद भर्ती प्रक्रिया शुरू की जाएगी। भर्तियां जिला स्तर पर होंगी। सरकार का मानना है कि किसी भी विभाग का काम सुचारु रूप से चलाने के लिए कर्मचारियों का होना सबसे अधिक जरूरी होता है। इसलिए विभागों के रिक्त पदों को शीघ्र ही भरा जाना चाहिए।
 
उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग का बहुत बड़ा दायरा है। जिले में बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय होने के साथ जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट), ब्लॉक आफिस के अलावा कई निदेशालय ऐसे हैं, जहां कई सालों से भर्तियां नहीं हुई हैं। इसके चलते अधिकतर दफ्तरों में शिक्षकों को बाबू बनाकर काम चलाया जा रहा है या फिर कार्यदायी संस्था के माध्यम से कर्मचारियों को रखकर काम चलाया जा रहा है।
 
स्थायी कर्मचारियों के न होने की वजह से किसी की स्पष्ट जवाबदेही नहीं होती है। यही नहीं कभी-कभार तो स्थिति यह हो जाती है कि निदेशालय या फिर शासन को समय से सूचनाएं नहीं मिल पाती हैं। इसलिए उच्च स्तर पर यह तय किया गया है कि लिपिक और चतुर्थ श्रेणी के रिक्त पदों को भर दिया जाए, ताकि समय से काम हो सके। शिक्षा का अधिकार अधिनियम लागू होने के बाद ब्लॉक संसाधन केंद्र, बेसिक शिक्षा अधिकारी और निदेशालय का काम काफी बढ़ गया है। भर्तियां हो जाने के बाद काम में आसानी होगी।


« Last Edit: October 07, 2013, 07:27:20 PM by G.Rathore »

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 17042
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #17 on: October 12, 2013, 12:44:31 PM »
NewsX : School at Uttar Pradesh's Hapur district enforces a dress code for its female teachers

Published on Oct 11, 2013

A basic education officer has reportedly issued a diktat regarding dress code for female teachers. While on one side the Akhilesh Yadav government claims to give more opportunities to women for them to progress, the BSA of Hapur district has issued a Talibani diktat.
Teachers have been warned that they should not wear jeans, designer blouses and tight fitting clothes. While the teachers are scared, the social activists are shocked.



Gaurav Rathore

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 5452
  • Gender: Male
  • Australian Munda
    • View Profile
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #18 on: October 12, 2013, 01:42:59 PM »
:P 14 लाख राज्य कर्मियों को बोनस की सौगात : दशहरा पर प्रदेश सरकार का फैसला :P


    कर्मचारियों को 30 दिन के बोनस के रूप में 3454 रुपये मिलेंगे हालांकि इसका भुगतान दशहरे के बाद ही संभव हो पाएगा।

    बोनस का 50 प्रतिशत  कर्मचारी के भविष्य निधि खाते में जमा होगा जबकि बाकी 50 प्रतिशत नकद भुगतान किया जाएगा।

    यदि कोई कर्मचारी भविष्य निधि खाते का सदस्य नहीं है तो उसे यह रकम नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) के रूप में दी जाएगी

    जो कर्मचारी 31 मार्च 2013 को रिटायर हो चुके हैं या 30 अप्रैल 2014 तक रिटायर होने वाले होंगे, उन्हें तदर्थ बोनस का पूरा हिस्सा नकद मिलेगा।

लखनऊ। प्रदेश सरकार ने दशहरा पर सूबे के करीब 14 लाख कर्मचारियों को बोनस की सौगात दे दी है। हालांकि इसका भुगतान दशहरे के बाद ही संभव हो पाएगा। बोनस का लाभ सभी पूर्णकालिक अराजपत्रित राज्य कर्मचारी, राजकीय विभागों के कार्य प्रभारित कर्मचारी, सहायता प्राप्त शिक्षण व प्राविधिक शिक्षण संस्थानों, स्थानीय निकायों के कर्मचारी व कैजुअल दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी पाएंगे। पात्र कर्मचारियों को 30 दिन के बोनस के रूप में 3454 रुपये मिलेंगे। इसमें आधी रकम जीपीएफ में जमा होगी।
केंद्र सरकार ने पिछले दिनों वर्ष 2012-13 के लिए अपने कर्मचारियों को 30 दिन का बोनस देने की घोषणा की थी। अब प्रदेश सरकार ने उसी तर्ज पर अपने कर्मचारियों को बोनस की सौगात दी है। प्रमुख सचिव वित्त आनंद मिश्र ने शुक्रवार को इस संबंध में शासनादेश जारी कर दिया। आदेश के अनुसार तदर्थ बोनस की स्वीकृत रकम का 50 प्रतिशत संबंधित कर्मचारी के भविष्य निधि खाते में जमा होगा जबकि बाकी 50 प्रतिशत नकद भुगतान किया जाएगा। यदि कोई कर्मचारी भविष्य निधि खाते का सदस्य नहीं है तो उसे यह रकम नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) के रूप में दी जाएगी। जो कर्मचारी 31 मार्च 2013 को रिटायर हो चुके हैं या 30 अप्रैल 2014 तक रिटायर होने वाले होंगे, उन्हें तदर्थ बोनस का पूरा हिस्सा नकद मिलेगा।




Gaurav Rathore

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 5452
  • Gender: Male
  • Australian Munda
    • View Profile
Re: Uttar Pardesh (UP) Teachers/ Education News
« Reply #19 on: October 12, 2013, 01:51:06 PM »
Uttar Pardesh, परिषदीय विद्यालयों में दशहरे का अवकाश 14-10-2013 को ।

 

GoogleTagged



Good news for Shikhsa Minttra who have appointed before 2010

Started by Gaurav Rathore

Replies: 0
Views: 874
Last post October 22, 2015, 11:43:32 AM
by Gaurav Rathore
News related to Andhra Pradesh

Started by Raman

Replies: 2
Views: 692
Last post June 10, 2015, 03:20:04 PM
by Raman
Latest Teacher news in Hyderabad

Started by Raman

Replies: 19
Views: 585
Last post August 31, 2016, 01:36:24 PM
by Raman
news related to NIT STUDENTS

Started by Raman

Replies: 17
Views: 989
Last post April 14, 2016, 11:36:22 AM
by Raman
Tripura Teacher News

Started by Raman

Replies: 3
Views: 820
Last post March 30, 2017, 09:07:34 PM
by Baljit NABHA