Author Topic: Bharat Rattna Award for vajpayee  (Read 1301 times)

Baljit NABHA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 58196
  • Gender: Male
  • Bhatia
    • View Profile
Re: Bharat Rattna Award for vajpayee
« Reply #10 on: March 28, 2015, 03:05:33 PM »

Baljit NABHA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 58196
  • Gender: Male
  • Bhatia
    • View Profile
Re: Bharat Rattna Award for vajpayee
« Reply #11 on: March 28, 2015, 04:23:52 PM »

Baljit NABHA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 58196
  • Gender: Male
  • Bhatia
    • View Profile
Re: Bharat Rattna Award for vajpayee
« Reply #12 on: March 28, 2015, 04:26:06 PM »

Baljit NABHA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 58196
  • Gender: Male
  • Bhatia
    • View Profile
Re: Bharat Rattna Award for vajpayee
« Reply #13 on: March 28, 2015, 05:04:27 PM »

Baljit NABHA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 58196
  • Gender: Male
  • Bhatia
    • View Profile
Re: Bharat Rattna Award for vajpayee
« Reply #14 on: March 31, 2015, 02:45:04 AM »

Baljit NABHA

  • News Caster
  • *****
  • Offline
  • Posts: 58196
  • Gender: Male
  • Bhatia
    • View Profile
Re: Bharat Rattna Award for vajpayee
« Reply #15 on: March 31, 2015, 09:45:22 AM »

vineysharma68

  • Guest
Re: Bharat Rattna Award for vajpayee
« Reply #16 on: March 31, 2015, 08:21:49 PM »
वाजपेयी-मालवीय को भारत रत्‍न पर भड़के काटजू



भाजपा के शिखर पुरुष अटल बिहारी वाजपेयी और महामना मदन मोहन मालवीय को भारत रत्‍न दिए जाने के सरकार के निर्णय का बेशक हर तरफ स्वागत हो रहा हो लेकिन सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायधीश मार्कंडेय काटजू इससे सहमत नजर नहीं आते।

उन्होंने केन्द्र सरकार के इस निर्णय की आलोचना करते हुए सवाल उठाया है कि दोनों लोगों को ही भारत रत्‍न क्यों? इनके अलावा भी तो देश में अन्य काबिल लोग थे जिन्हें भारत रत्‍न दिया जा सकता है।

वहीं इस बहाने काटजू ने बीएचयू की अवधारणा पर भी सवाल उठा दिया है। अपने ब्लॉग पर उन्होंने लिखा है कि क्या विश्वविद्यालय भी हिंदू या मुस्लिम हो सकते हैं। उनका निशाना बीएचयू और एएमयू पर था। बकौल काटजू विश्‍वविद्यालय तो विश्‍वविद्यालय है जो संपूर्ण विश्‍व के लिए है, किसी धर्म या ‌जाति के लिए नहीं।

काटजू ने खुद अपनी तरफ से ऐसे पांच नाम सुझा दिए हैं जो भारत रत्‍न के लिए वाजपेयी और मालवीय से ज्यादा योग्य हैं। प्रेस परिषद के पूर्व अध्यक्ष काटजू के अनुसार भारत रत्‍न देने के लिए सरकारों का अलग-अलग पैमाना है।
मार्कंडेय काटजू ने अपने ब्लॉग पर उन पांच नामों का जिक्र किया है जिन्हें भारत रत्‍न सम्मान दिया जा सकता था। इनमें सबसे पहला नाम है मशहूर शायर मरहूम मिर्जा गालिब का। काटजू के अनुसार अपनी बेबाक शायरी और साहित्य को अलग मुकाम देने के लिए मिर्जा गालिब को यह पुरस्कार मिलना चाहिए था।

उनकी लिस्ट में दूसरा नाम है द्वितीय विश्‍वयुद्ध में चीनी सैनिकों की तहेदिल से सेवा करने वाले डा. द्वारकानाथ कोटनिस का। जिन्हें चीन के सर्वोच्च सम्मान से नवाजा जा चुका है। आज भी लोग चीन में डा. कोटनिस का नाम बड़े सम्मान से लेते हैं।

उनकी सूची में तीसरा नाम है महान साहित्यकार शरत चन्द्र चटोपाध्याय का। जिन्हें जाति व्यवस्‍था और समाज की कुरीतियों पर अपनी लेखनी के द्वारा कड़ा प्रहार करने के लिए जाना जाता है।




काटजू की चौथी पसंद हैं मशहूर राष्ट्रवादी और महिला अधिकारों के लिए लड़ने वाले सुब्रमणीय भारती। अपनी लेखनी के जरिए भारती महिला अधिकारों के लिए आवाज उठाते रहे हैं। वहीं उनकी अंतिम और पांचवी पसंद हैं मशहूर पत्रकार पी साईंनाथ। द हिंदू अखबार से जुड़े रहे पी साईंनाथ अपनी बेबाक लेखनी के लिए अलग पहचान रखते हैं।
Very nice

 

GoogleTagged



ONE YEAR OF SWACHH BHARAT MISSION

Started by Raman

Replies: 25
Views: 1422
Last post March 18, 2018, 05:30:21 AM
by Baljit NABHA
PM launches Swachh Bharat Abhiyaan -

Started by Raman

Replies: 25
Views: 716
Last post October 02, 2017, 02:46:25 PM
by Amandeep
Greebi Bharat Choro Abhiyaan

Started by Amandeep

Replies: 13
Views: 260
Last post October 11, 2017, 01:19:35 PM
by Amandeep
‘Swachh Bharat Mission’,”

Started by SHANDAL

Replies: 102
Views: 4034
Last post May 09, 2018, 06:29:08 AM
by SHANDAL
Bharat Bandh Against SC/ST Act Dilution

Started by SHANDAL

Replies: 113
Views: 688
Last post April 10, 2018, 11:40:45 AM
by Amandeep