Show Posts

This section allows you to view all posts made by this member. Note that you can only see posts made in areas you currently have access to.


Messages - Gaurav Rathore

Pages:  1 2 3 ... 486
1
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 09, 2017, 09:50:27 PM »
अध्यापकों की मैडीकल छुट्टी पर से शर्त हटाने को तैयार शिक्षा विभाग

 August 9, 2017

-शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार ने प्रसोनल विभाग को भेजी फाईल
शिक्षा फोक्स, चंडीगढ़।
अध्यापकों को कम से कम 15 दिनों की मैडीकल की परेशानी हल होने की अास बन गई है। शिक्षा विभाग के सचिव कृष्ण कुमार ने इस केस की फाईल तैयार कर प्रसोनल विभाग को भेज दी है। शिक्षा सचिव ने अध्यापकों के साथ एक बैठक में यह दावा किया है। उन्होंने जत्थेबंदी को अाश्वासन दिया है कि यह डिमांड कुछ दिनों में हल हो जाएगी। इस बैठक के दौरान मुख्यमंत्री के अोेएसडी कैप्टन संदीप संधू तथा शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार भी मौजूद थे।
अध्यापक संघ के प्रधान निर्मल सिंह तथा महासचिव रमेश अत्री ने बताया कि अध्यापकों पर पूर्व सरकार ने 15 दिनों की मैडीकल छुट्टी एक साथ करने के अादेश दिए थे। एेसे में अध्यापक काफी परेशान थे। इस समय हालात एेसे थे कि अगर अध्यापक 4 से 5 दिनों के लिए बीमार होता था तो वह अध्यापक से 15 दिनों की मैडीकल छुट्टी का प्रमाण पत्र मांगता था। एेसे में डाक्टर हैरान थे कि अब अध्यापक ठीक है तो उसे कैसे 15 दिनों के लिए छुट्टी दी जा सकती है। उन्होंने कहा कि पंजाब में शिक्षा विभाग से अतिरिक्त एेसा कोई अन्य विभाग नहीं है, जहां कर्मचारी डाक्टर के मुताबिक छुट्टी नहीं ले सकता है। उन्होंने बताया कि अध्यापकों की इस मांग को शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार ने प्रवान कर लिया है तथा कहा है कि छुट्टी की प्रवानगी के लिए फाईल प्रसोनल विभाग को भेज दी गई है।

2
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 09, 2017, 09:50:14 PM »
अधिकारियों को देना होगा अध्यापकों से तकनीकी कार्य न लेने संबंधी प्रमाण पत्र
 August 9, 2017 Davinder Singh  0 Comments Authorities should not give technical work to the teachers, Education Department seeks letter to officials
-शिक्षा विभाग ने अधिकारियों को पत्र भेज मांगी डिटेल
शिक्षा फोक्स, कपूरथला।
शिक्षा विभाग ने समूह जिला शिक्षा अधिकारियों, ब्लाक प्राइमरी एजुकेशन अाफिसर तथा राज्य के समूह स्कूल हेड को पत्र भेजकर अध्यापकों से गैर शिक्षक कार्य लेने से मना किया है। डायरेक्टर शिक्षा विभाग ने इसके लिए समूह हेड को 10 अगस्त तक एक प्रमाण पत्र देने के लिए कहा है। इसमें हेड को बताना होगा कि उनके अधिकार में एेसा कोई भी अध्यापक नहीं है, जिससे गैर शिक्षक कार्य लिया जा रहा है। विभाग ने कहा है कि अगर इसके बाद एेसा कोई भी केस पाया गया कि शिक्षक से गैर शिक्षक कार्य लिया जा रहा है तो उस हेड के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई होगी।

3
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 09, 2017, 08:40:06 PM »
अधिकारियों को देना होगा अध्यापकों से तकनीकी कार्य न लेने संबंधी प्रमाण पत्र
 August 9, 2017 Davinder Singh  0 Comments Authorities should not give technical work to the teachers, Education Department seeks letter to officials
-शिक्षा विभाग ने अधिकारियों को पत्र भेज मांगी डिटेल
शिक्षा फोक्स, कपूरथला।
शिक्षा विभाग ने समूह जिला शिक्षा अधिकारियों, ब्लाक प्राइमरी एजुकेशन अाफिसर तथा राज्य के समूह स्कूल हेड को पत्र भेजकर अध्यापकों से गैर शिक्षक कार्य लेने से मना किया है। डायरेक्टर शिक्षा विभाग ने इसके लिए समूह हेड को 10 अगस्त तक एक प्रमाण पत्र देने के लिए कहा है। इसमें हेड को बताना होगा कि उनके अधिकार में एेसा कोई भी अध्यापक नहीं है, जिससे गैर शिक्षक कार्य लिया जा रहा है। विभाग ने कहा है कि अगर इसके बाद एेसा कोई भी केस पाया गया कि शिक्षक से गैर शिक्षक कार्य लिया जा रहा है तो उस हेड के खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई होगी।

4
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 09, 2017, 08:37:33 PM »

SHIKSHA FOCUS
Edu. News Alert
शिक्षा विभाग की इनसर्विस तथा सीईअो अाफिस बंद करन की तैयारी!
http://goo.gl/81etc2
-पहली कड़ी में 59 लेक्चरर को किया स्कूलों में तैनात
शिक्षा फोक्स, चंडीगढ़।
शिक्षा विभाग ने अपने दो दफ्तरों को बंद करने की तैयारी कर ली है। पहली कड़ी के तहत राज्य में चल रहे एक दर्जन सरकारी इनसर्विस ट्रेनिंग सेंटर में तैनात 29 लेक्चरर को स्कूल व डाईट में रिक्त पड़े पदों पर एडजस्टमेंट कर दी है। डायरेक्टर शिक्षा विभाग सीनियर सेकेंडरी परमजीत सिंह ने बच्चों की शिक्षा को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया है। अादेश में डायरेक्टर ने सरकारी इनसर्विस ट्रेनिंग सेंटर अमृतसर में सेवा दे रहे 6 लेक्चरर को स्कूलों में तैनात किया है।

एेसे ही सरकारी इनसर्विस ट्रेनिंग सेंटर, बठिंडा के 5, फरीदकोट 5 लेक्चरर, फिरोजपुर के 2, गुरदासपुर के 5, होशियारपुर के एक, जालंधर सरकारी इनसर्विस ट्रेनिंग सेंटर के 6 लेक्चरर को एडजस्ट करते हुए स्कूलों में भेजा दिया है। जबकि सरकारी इनसर्विस ट्रेनिंग सेंटर कपूरथला के 2 लेक्चरर, लुधियाना के 6, पटियाला के 10 लेक्चरर, रोपड़ के चार लेक्चरर, संगरूर के 6 लेक्चरर को एडजस्ट करने के बाद अब सरकारी इनसर्विस ट्रेनिंग सेंटर पूरी तरह से खाली हो गए हैं। मगर, एक बात शिक्षा विभाग ने सही की है कि यह सभी लेक्चरर साईंस विषय से संबंधित हैं अौर स्कूलों में साईंस विषय के अधिकतर स्कूल खाली पड़े हुए हैं। अादेश में साफ किया गया है कि बकाया 6 लेक्चरर को बाद में एडजस्ट किया जाएगा। इसके अादेश अल्ग जारी होंगे। जानकार बताते हैं कि अब शिक्षा विभाग की नजर सर्किल एजुकेशन अाफिसर (सीईअो) दफ्तरों पर है। विभाग की नजर में भी सीईअो दफ्तर का मौजूदा समय के दौरान कोई काम नहीं है। जानकार बताते हैं कि सीईअो दफ्तर में शिक्षा विभाग एक क्लर्क, एक अधिकारी तथा एक दर्जा चार कर्मचारी के साथ काम चलाना चाहता है। एेसा ही सरकारी इनसर्विस ट्रेनिंग सेंटर के साथ किया जा रहा है। अब लेक्चरर के बाद क्लर्कों की बारी है। शिक्षा विभाग ने पहले ही क्लर्कों से स्टेशन की डिमांड कर रखी है। अपने अादेशों में खुद ही विभाग का कहना है कि इनसर्विस सेंटर के पास कोई काम नहीं है, एेसे में उनके स्टाफ को शिफ्ट किया जा रहा है। एेसे ही पहले सीईअो दफ्तरों में तैनात क्लर्कों को भी बदला जा चुका है।

5
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 05, 2017, 04:52:01 PM »

शिक्षा मत्री की धमकी के खिलाफ डीटीएफ बनाने लगी रणनीति
-शिक्षा मंत्री ने अभी तक नहीं किया शिक्षा के सुधार के लिए कोई भी प्रयास- वड़ैच
शिक्षा फोक्स, जालंधर।
डैमोक्रेटिक टीचर्ज़ फ्रंट, पंजाब (डीटीएफ) ने शिक्षा मंत्री अरूणा चौधरी तथा शिक्षा विभाग में तैनात उच्च अधिकारियों पर अध्यापकों की अावाज को दबाने के अारोप लगाए हैं। शनिवार को जालंधर में पत्रकारों के साथ बातचीत में डीटीएफ के प्रधान भूपिन्दर सिंह वड़ैच ने अभी तक शिक्षा मंत्री की तरफ से किए गए तबादलों पर प्रश्न चिन्ह लगाया है। यही नहीं उन्होंने बताया कि पंजाब सरकार की शिक्षा विरोधी नीति के कारण अभी तक बच्चों को बच्चों को स्कूलों में पढ़ने के लिए किताबें नहीं मिल पाई हैं। यही नहीं अध्यापकों को जबरी 15 दिनों की मैडीकल छुट्टी देकर भी अध्यापकों की पढ़ाई का नुकसान किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इन्हीं सब बातों को लेकर जब 30 जुलाई को डीटीएफ ने मंत्री के क्षेत्र में प्रदर्शन करते हुए अपनी मांगों को लेकर उन से बात का समय मांगा तो उन्होंने बात करने की बजाए उलटा यूनियन को धमकी देनी अारंभ कर दी। शिक्षा मंत्री की इस रवैये के खिलाफ अभ डीटीएफ ने भी तीखा रवैया अपनाने का फैसला किया है। मंत्री के इस धमकी के विरोध में डीटीएफ पूरे राज्य में जिला स्तर पर 18 अगस्त को शिक्षा मंत्री के पुतले फूंक अपना विरोध दर्ज करवाएंगे। अगर इस पर भी मंत्री ने माफी न मांगी तो 27 अगस्त को लुधियाना में एक राज्य स्तर की बैठक कर सितंबर माह के पहले हफ्ते एक बड़ा एक्शन किया जाएगा। यह एक्शन बच्चों की पढ़ाई को ध्यान में रखते हुए बनाया जाएगा क्योंकि डीटीएफ ने हमेशा अपनी मांगों से अधिक बच्चों की पढ़ाई को अहमियत दी है।
इस दौरन डीटीएफ नेताअों ने शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार पर भी निशाना साधा। नेताअों ने कहा कि कृष्ण कुमार भी मौजूदा समये के दौरान शिक्षा मंत्री के दबाव में काम कर रहे हैं। इसी का नतीजा है कि कृष्ण कुमार ने टीचरों की 15 दिन की मैडीकल छुट्टी को कम करने से इंकार कर दिया है। यही नहीं पिछले समय के दौरान किए गए अध्यापकों के तबादले भी शिक्षा सचिव के शिक्षा विरोधी होने की नीति को साफ कर रही है। डीटीएफ के सचिव दविन्दर सिंह पुनिया ने कहा कि प्रत्येक साल शिक्षा विभाग में जून में तबादले किए जाते हैं मगर, सत्ता में अाते ही शिक्षा मंत्री ने अपने चहेतों को एडजस्ट करने के लिए मई में ही 600 के करीब तबादले कर दिए। हालांकि शिक्षा विभाग को इन तबादलों को बाद में पुनः एडजस्टमेंट भी करनी पड़ी। उन्होंने कहा कि इस समय प्राइमरी शिक्षा का सबसे अधिक नुकसान हो रहा है। मौजूदा समय के दौरान जहां राज्य में 75 फीसदी ब्लाक प्राईमरी एजुकेशन अाफिसर के पद खाली पड़े हुए हैं वहीं अध्यापकों के भी कई पद खाली हैं। हाई स्कूलों तथा सीसे स्कूलों का भी यही हाल है। स्कूलों के पास अाय का कोई साधन नहीं है लेकिन विभाग की अनदेखी के कारण स्कूलों में तैनात अध्यापकों को अपनी जेब से बिजली के बिल अदा करने पड़ रहे हैं।
इस मौके उनके साथ अमरजीत शास्त्री, जर्मनजीत सिंह, दिगविजयपाल मोगा, बलवीर चंद लोंगोवाल, कर्म सिंह कपूरथला, दिलबाग सिंह जालंधर, धर्म सिंह लुधियाना, विक्रम देव सिंह तथा नवदीप समाणा के अतिरिक्त डीटीएफ के भारी गिनती में नेता मौजूद थे।


6
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 05, 2017, 05:30:06 AM »
265 NRI seats to be moved to general category
Posted at: Aug 5, 2017, 2:10 AM
Last updated: Aug 5, 2017, 2:10 AM (IST)

Balwant Garg

Tribune News Service

Faridkot, August 4

With 265 MBBS and BDS seats under the NRI quota remaining vacant in today’s counselling, these will be merged with general category seats.

In the state, seven medical and 15 dental colleges offer 300 seats — 136 MBBS and 164 BDS — under the NRI quota. Only 35 aspirants appeared for the counselling conducted by the Baba Farid University of Health Sciences (BFUHS) here.

For 136 MBBS seats, only 32 NRI candidates turned up. Of them, 11 opted for the Dayanand Medical College and Hospital (DMCH), Ludhiana, and nine for Christian Medical College (CMC), Ludhiana.

Only two candidates enrolled in the Sri Guru Ram Das Institute of Medical Sciences and Research, Amritsar. This despite the fact that the college reduced its MBBS fee by Rs 20 lakh two days ago.

All 30 seats in Adesh Medical College, Bathinda, and the Punjab Institute of Medical Sciences (PIMS), Jalandhar, remained vacant.

As for the 164 BDS seats, only three candidates enrolled — one each in Christian Dental College, Ludhiana, Baba Jaswant Singh Dental College and Hospital, Ludhiana and Sri Sukhmani Dental College and Hospital, Dera Bassi.

7
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 05, 2017, 05:29:22 AM »
Govt to hire 1,337 TET-pass candidates
4,183 posts to be advertised | Upper age for recruitment will be 38 years
Posted at: Aug 5, 2017, 2:10 AM
Last updated: Aug 5, 2017, 2:10 AM (IST)
Tribune News Service

Chandigarh, August 4

The Punjab Cabinet today decided to recruit 1,337 candidates against 6,060 posts of Teacher Eligibility Test (TET)-qualified master cadre teachers, advertised in 2015.

The upper age for fresh recruitment would be 38 years. It was also decided to advertise 4,183 new posts in view of a Supreme Court judgment in this regard.

The Cabinet decided to amend the Punjab Civil Services Rules to allow travelling allowance (TA) for the attendant/escort accompanying government employees with disabilities while on official tour/training.

The Cabinet gave approval to the Government Employees (Conduct) Rules (First Amendment) Rules, 2017, changing the classification of posts from Classes I, II, III and IV to Groups A, B, C and D, respectively.

It also okayed the amended service rules of Group A, B & C employees of the Town and Country Planning Department in the light of its restructuring to facilitate the direct recruitment of employees and officers.

The Cabinet gave the go-ahead to the Health and Family Welfare Technical (Group A) Services Rules-2017 to enable recruitment and promotions to various vacant posts, besides providing more promotion channels to other medical staff.

8
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 04, 2017, 10:17:11 PM »


-सरकार देगी 4183 पदों को भरने के लिए विज्ञापन
शिक्षा फोक्स, चंडीगढ़।
पंजाब के टैट पास अध्यापकों के लिए खुशखबरी है। पंजाब मंत्री मंडल ने टैट पास अध्यापकों को राहत देते हुए 2015 में दिए गए 6060 पदों के विज्ञापन में से 1337 अध्यापकों को नियुक्ति पत्र जारी करने को प्रवानगी दे दी है। पंजाब सरकार के प्रवक्ता ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि यह फैसला सीएम कैप्टन अमरिन्दर सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में लिया गया है। प्रवक्ता ने बताया कि मंत्री मंडल ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर राज्य में 4183 पदों को भरने का भी फैसला किया है।
उन्होंने कहा कि टैट पास अध्यापकों की मांग को ध्यान में रखते हुए मंत्री मंडल ने नई भर्ती के लिए अायु में विशेष छूट देने का फैसला किया है। पहले भर्ती के लिए अायु 37 साल थी अब इसे बढ़ाकर 38 साल करने के फैसले को प्रवानगी दे दी गई है। मंत्री मंडल ने शिक्षा विभाग को नैशनल कौंसिल फॉर टीचर एजुकेशन के पास योग्यता की सीमा को सात साल से बढ़ाकर अाठ साल करने की प्रवानगी देने के लिए कहा है। ध्यान रहे कि जिन अध्यापकों ने टैट पास किया है, उन्हें सात साल के बीच नौकरी मिल सकती है। इसी सीमा को बढ़ाने के लिए मंत्री मंडल ने नैशनल कौंसिल फॉर टीचर एजुकेशन से एक साल अधिक समय देने के लिए कहा है। गौर हो कि राज्य में 2011 में टैट टैस्ट पास करने वाले बेरोजगार अध्यापकों की नौकरी पाने की योग्यता 2018 में खत्म हो जाएगी।

9
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 04, 2017, 05:25:23 AM »
ਸਕੂਲ 'ਚ ਦੌਰੇ ਦੌਰਾਨ ਅਧਿਕਾਰੀ ਅਧਿਆਪਕਾਂ ਨੂੰ ਬਣਦਾ ਸਤਿਕਾਰ ਦੇਣ-ਕ੍ਰਿਸ਼ਨ ਕੁਮਾਰ

ਡੇਰਾਬੱਸੀ, 3 ਅਗਸਤ (ਸ਼ਾਮ ਸਿੰਘ ਸੰਧੂ)-ਹੁਣ ਪੰਜਾਬ ਦੇ ਸਕੂਲਾਂ 'ਚ ਦੌਰੇ 'ਤੇ ਜਾਣ ਵਾਲੇ ਸਿੱਖਿਆ ਵਿਭਾਗ ਦੇ ਉੱਚ ਅਧਿਕਾਰੀ ਬੱਚਿਆਂ ਦੇ ਸਾਹਮਣੇ ਅਧਿਆਪਕ ਨੂੰ ਬਣਦਾ ਮਾਣ ਸਨਮਾਨ ਦੇਣ ਲਈ ਪਾਬੰਦ ਹੋਣਗੇ | ਪਹਿਲਾ ਅਚਾਨਕ ਕਿਸੇ ਚੈਕਿੰਗ ਜਾਂ ਵਿਸ਼ੇਸ਼ ਦੌਰੇ 'ਤੇ ਆਏ ਅਧਿਕਾਰੀਆਂ ਨੂੰ ਵੇਖ ਕੇ ਸਕੂਲ ਦੇ ਅਧਿਆਪਕਾਂ ਅੰਦਰ ਘਬਰਾਹਟ ਪੈਦਾ ਹੋ ਜਾਣ ਕਾਰਨ ਕਈ ਵਾਰ ਉਹ ਅਧਿਕਾਰੀ ਵੱਲੋਂ ਪੁੱਛੇ ਗਏ ਸਵਾਲਾਂ ਦੇ ਜਵਾਬ ਵੀ ਠੀਕ ਢੰਗ ਨਾਲ ਨਹੀਂ ਦੇ ਪਾਉਂਦੇ | ਸਕੱਤਰ ਸਕੂਲ ਸਿੱਖਿਆ ਪੰਜਾਬ, ਚੰਡੀਗੜ੍ਹ ਨੇ ਸਮੂਹ ਮੰਡਲ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ, ਸਮੂਹ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਸਿੱਖਿਆ ਅਫ਼ਸਰ (ਸੈ. ਸਿੱ. ਅਤੇ ਐ. ਸਿੱ.) ਤੇ ਸਮੂਹ ਡਾਇਟ ਪਿ੍ੰਸੀਪਲਾਂ ਨੂੰ ਲਿਖਤੀ ਤੌਰ 'ਤੇ ਹਦਾਇਤ ਕੀਤੀ ਹੈ ਕਿ ਸਕੂਲ 'ਚ ਚੈਕਿੰਗ ਆਦਿ ਕਰਨ ਦਾ ਮੁੱਖ ਮਕਸਦ ਸਿੱਖਿਆ ਦਾ ਸੁਧਾਰ ਤੇ ਬੱਚੇ ਦੇ ਸਿੱਖਣ ਪੱਧਰ ਨੂੰ ਵੇਖਣਾ ਹੁੰਦਾ ਹੈ, ਪਰ ਕਈ ਵਾਰ ਅਧਿਕਾਰੀਆਂ ਵੱਲੋਂ ਅਧਿਆਪਕਾਂ ਨਾਲ ਨਾਲ ਉਹੋ ਜਿਹਾ ਵਿਹਾਰ ਨਹੀਂ ਕੀਤਾ ਜਾਂਦਾ, ਜਿਸ ਤਰ੍ਹਾਂ ਦਾ ਕੀਤਾ ਜਾਣਾ ਚਾਹੀਦਾ ਹੈ | ਪੱਤਰ ਅਨੁਸਾਰ ਸਿੱਖਿਆ ਸਕੱਤਰ ਨੇ ਅਧਿਕਾਰੀਆਂ ਨੂੰ ਕਿਹਾ ਕਿ ਅਧਿਆਪਕਾਂ ਨਾਲ ਬੱਚਿਆਂ ਨੂੰ ਪੜ੍ਹਾਏ ਪਾਠਕ੍ਰਮ, ਬੱਚਿਆਂ ਦੇ ਸਿੱਖਣ ਪੱਧਰ ਦੀ ਜਾਂਚ, ਕਾਪੀਆਂ ਦੀ ਚੈਕਿੰਗ ਤੇ ਨਤੀਜੇ ਆਦਿ ਬਾਰੇ ਗੱਲਬਾਤ ਕਰਨੀ ਅਤੀ ਜ਼ਰੂਰੀ ਹੁੰਦੀ ਹੈ, ਪਰ ਅਧਿਆਪਕ ਤੋਂ ਜਮਾਤ 'ਚ ਬੱਚਿਆਂ ਦੇ ਸਾਹਮਣੇ ਕੋਈ ਵੀ ਇਸ ਤਰ੍ਹਾਂ ਦਾ ਸਵਾਲ ਨਾ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇ, ਜਿਸ ਤੋਂ ਇਹ ਲੱਗੇ ਕਿ ਅਧਿਆਪਕ ਦਾ ਟੈਸਟ ਲਿਆ ਜਾ ਰਿਹਾ ਹੈ | ਜੇਕਰ ਅਧਿਕਾਰੀ ਦਾ ਅਧਿਆਪਕ ਸਬੰਧੀ ਕੋਈ ਨਿਰੀਖਣ ਹੋਵੇ ਤਾਂ ਉਹ ਜਮਾਤ ਤੋਂ ਵੱਖ ਸਕੂਲ ਮੁਖੀ ਦੀ ਹਾਜ਼ਰੀ 'ਚ ਕੀਤਾ

10
Teachers News / Re: Teachers News Daily Updated
« on: August 04, 2017, 05:22:25 AM »
ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ ਦਾ ਪਰਖ-ਸਮਾਂ 3 ਤੋਂ ਘਟਾ ਕੇ 2 ਸਾਲ ਕਰਨ ਦੇ ਫੈਸਲੇ ਦਾ ਸਵਾਗਤ

ਹੁਸ਼ਿਆਰਪੁਰ, 3 ਅਗਸਤ (ਹਰਪ੍ਰੀਤ ਕੌਰ)- ਪੰਜਾਬ ਸੁਬਾਰਡੀਨੇਟ ਸਰਵਿਸਿਜ਼ ਫੈਡਰੇਸ਼ਨ ਦੇ ਸੂਬਾ ਪ੍ਰਧਾਨ ਸਤੀਸ਼ ਰਾਣਾ, ਜਨਰਲ ਸਕੱਤਰ ਵੇਦ ਪ੍ਰਕਾਸ਼ ਸ਼ਰਮਾ, ਵਿੱਤ ਸਕੱਤਰ ਮਨਜੀਤ ਸਿੰਘ ਸੈਣੀ ਅਤੇ ਸੂਬਾ ਪ੍ਰੈਸ ਸਕੱਤਰ ਤੀਰਥ ਬਾਸੀ ਨੇ ਪੰਜਾਬ ਸਿਵਲ ਸਕੱਤਰੇਤ ਵਿਖੇ ਤਾਇਨਾਤ 120 ਸੀਨੀਅਰ ਸਹਾਇਕਾਂ ਦਾ ਪਰਖ-ਸਮਾਂ ਤਿੰਨ ਸਾਲ ਤੋਂ ਘਟਾ ਕੇ ਦੋ ਸਾਲ ਕਰਨ ਦੇ ਫੈਸਲੇ ਦਾ ਸਵਾਗਤ ਕਰਦਿਆਂ ਮੰਗ ਕੀਤੀ ਹੈ ਕਿ ਇਸੇ ਤਰਜ਼ 'ਤੇ ਸੂਬੇ ਦੇ ਸਮੂਹ ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ ਦਾ ਪਰਖ ਕਾਲ ਵੀ ਤਿੰਨ ਤੋਂ ਘਟਾ ਕੇ ਦੋ ਸਾਲ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇ | ਆਗੂਆਂ ਨੇ ਦੱਸਿਆ ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ ਦਾ ਪਰਖ ਸਮਾਂ ਦੋ ਤੋਂ ਤਿੰਨ ਸਾਲ ਕਰ ਦਿੱਤਾ ਗਿਆ ਸੀ ਤੇ ਇਨ੍ਹਾਂ ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ ਦੀ ਭਰਤੀ ਪ੍ਰਕਿਰਿਆ ਇਹ ਪੱਤਰ ਜਾਰੀ ਹੋਣ ਤੋਂ ਪਹਿਲਾਂ ਸ਼ੁਰੂ ਹੋ ਚੁੱਕੀ ਸੀ | ਆਗੂਆਂ ਨੇ ਸਰਕਾਰ ਤੋਂ ਮੰਗ ਕੀਤੀ ਕਿ ਪਰਖ ਸਮਾਂ ਘਟਾਉਣ ਵਾਲਾ ਪੱਤਰ ਉਨ੍ਹਾਂ ਸਮੂਹ ਵਿਭਾਗਾਂ ਦੇ ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ 'ਤੇ ਲਾਗੂ ਕੀਤਾ ਜਾਵੇ ਜਿਨ੍ਹਾਂ ਦੀ ਭਰਤੀ ਪ੍ਰਕਿਰਿਆ 5 ਸਤੰਬਰ 2016 ਤੋਂ ਪਹਿਲਾਂ ਸ਼ੁਰੂ ਹੋ ਚੁੱਕੀ ਸੀ | ਉਨ੍ਹਾਂ ਮੰਗ ਕੀਤੀ ਜਿਹੜੇ ਮੁਲਾਜ਼ਮਾਂ ਨੂੰ ਤਿੰਨ ਸਾਲ ਲਈ ਮੁੱਢਲੀ ਤਨਖਾਹ 'ਤੇ ਭਰਤੀ ਕੀਤਾ ਗਿਆ ਹੈ, ਉਨ੍ਹਾਂ ਤੋਂ ਪਰਖ ਸਮਾਂ ਸ਼ਰਤ ਖ਼ਤਮ ਕੀਤੀ ਜਾਵੇ |

Pages:  1 2 3 ... 486