Author Topic: दफ्तरों में फेसबुक, व्हाट्स ऐप बैन  (Read 1542 times)

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 16238
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
दफ्तरों में फेसबुक, व्हाट्स ऐप बैन
फतेहगढ़ साहिब। डिप्टी कमिश्नर कमलदीप सिंह संघा ने पंजाब सरकार के आदेश पर मंगलवार को जिले भर के समूह सरकारी विभागों में सोशल मीडिया साइट्स समेत वाट्सऐप और फेसबुक पर पूर्ण पाबंदी के सख्ती से आदेश जारी किए हैं। यहीं नहीं डीसी के आदेशों का उल्लंघन करने वाले कर्मियों पर सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

http://epaper.amarujala.com/svww_zoomart.php?Artname=20141217a_009118009&ileft=3&itop=99&zoomRatio=130&AN=20141217a_009118009

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 16238
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 16238
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

Gaurav Rathore

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 5332
  • Gender: Male
  • Australian Munda
    • View Profile
« Last Edit: December 27, 2014, 11:37:46 AM by G.Rathore »

pulkit verma

  • Member
  • *
  • Offline
  • Posts: 41
    • View Profile
    • Email
Re: No Use of phones during Teaching in Classroom
« Reply #4 on: December 27, 2014, 04:28:25 PM »
tchrs nu eni problem ni honi jinni officers nu honi hai..bcz har dak  te information wats app te bej ke saar dinde ne.

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 16238
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email

SSPadda

  • Real Member
  • **
  • Offline
  • Posts: 131
    • View Profile
    • Email
Kujh nahi honaa,ainve kaagji roalaa puaa k,teachers nu aapus vich lardaaunaa hai.

vineysharma68

  • Guest
Kujh nahi honaa,ainve kaagji roalaa puaa k,teachers nu aapus vich lardaaunaa hai.
Dear Padda ji,
            Hullo,
            Bhaven kujh hove ya na, lekin school time ch Social Sites na vartan de hukam da Adhyapak/Adhiyapika Sahiban nu fayeda he hove-ga ji, maximum schools ch (especially in Border Areas)Sarkari Internet nahin chalda, Adyapak/Veeran Bhaina ne jo net pack apne paliyon paise puva k Schools di chithian da adhaan pradhan krde hn, oss km toun mukti milugi ji. Vaise Maximum adhyapak eh social sites di varton krde bhi nahin hn ji. Iss faisle naal schools incharges diyan mushkilan ch he vadha hona hai, jo k pehlan toun he Computer Faculties Veeran/Bhaina de official km toun na krn karan pareshaan hn ji.
Thanks.
« Last Edit: December 28, 2014, 07:31:41 PM by vineysharma68 »

Baljit NABHA

  • News Caster
  • *****
  • Online
  • Posts: 47141
  • Gender: Male
  • Bhatia
    • View Profile

sheemar

  • News Editor
  • *****
  • Offline
  • Posts: 16238
  • Gender: Male
    • View Profile
    • Email
क्लासरूम में नहीं बजेगी मोबाइल फोन की घंटी
अमर उजाला ब्यूरो
चंडीगढ़। पंजाब के सरकारी स्कूलों के क्लासरूम में अब टीचरों के मोबाइल ले जाने पर नकेल कसी जाएगी। पढ़ाई के दौरान सोशल साइट्स पर चैटिंग करने वाले टीचरों पर कार्रवाई की जाएगी, ताकि बच्चों की पढ़ाई में समस्या न आए। पंजाब के डायरेक्टर जनरल स्कूल एजुकेशन (डीजीएसई)ने इस संबंध में सभी स्कूलों प्रिंसिपल, एलिमेंट्री व सेकेंडरी जिला शिक्षा अधिकारियों को सख्त हिदायतें जारी की हैं।
डीजीएसई की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि यह आम देखने में आया है कि टीचर क्लास में बच्चों की पढ़ाई पर ध्यान देने के बजाय मोबाइल फोन पर चिपके रहते हैं। बड़ी संख्या में टीचर फेसबुक और वाट्स-ऐप पर व्यस्त रहते हैं। जिससे विद्यार्थियों की पढ़ाई का नुकसान होता है। सभी टीचरों को हिदायत दी गई है कि वे बच्चों की पढ़ाई के दौरान मोबाइल का इस्तेमाल बिल्कुल न करें। साथ ही स्कूल प्रिंसिपल को निर्देश दिए गए हैं कि वे यह यकीनी बनाएंगे कि टीचर क्लास में मोबाइल का इस्तेमाल न करें। अगर किसी टीचर के खिलाफ शिकायत आती है तो उसके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी।
वहीं, जिला शिक्षा अधिकारियों को भी इस पर नजर रखने को कहा गया है। गौरतलब है कि शिक्षा विभाग को लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि टीचर फेसबुक और वाट्स-ऐप पर व्यस्त रहते हैं, जिससे पढ़ाई का नुकसान हो रहा है।
सिलेबस को मासिक आधार पर बांटा
शिक्षा का अधिकार एक्ट के तहत अब सिलेबस भी मासिक आधार पर बांट दिया गया है। विभाग की जानकारी में आया था कि बहुत से टीचर मासिक सिलेबस पूरा नहीं कर रहे थे। जिसके बाद विभाग ने क्लासरूम में मोबाइल फोन पर पाबंदी लगाने का फैसला किया।
संगत दर्शन में उठा था मुद्दा
जानकारी के मुताबिक टीचरों के मोबाइल फोन पर व्यस्त रहने का मामला संगत दर्शन में उठा था। एक संगत दर्शन के दौरान यह शिकायत आई थी कि टीचरों के फेसबुक और वट्स-ऐप पर व्यस्त रहने के कारण बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। जिसके बाद डिप्टी सीएम सुखबीर बादल की ओर से शिक्षा विभाग को इस संबंध में हिदायत जारी की गई थी।
टीचरों के फेसबुक और वाट्स-ऐप पर लगेगी लगाम
डीजीएसई ने जारी की सभी स्कूलों को हिदायत
क्लास में मोबाइल का इस्तेमाल रोकना स्कूल प्रिंसिपल की होगी जिम्मेदारी

http://epaper.amarujala.com/svww_zoomart.php?Artname=20150115a_010118009&ileft=-5&itop=811&zoomRatio=130&AN=20150115a_010118009

 

GoogleTagged